WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

ॐ श्री श्याम देवाय नमः मंत्र के फायदे: श्याम बाबा के 10 मंत्र जो करते है मन को शांत

ॐ श्री श्याम देवाय नमः मंत्र के फायदे: खाटू श्याम जी की भक्ति, सच्चे मन से की जाए तो जीवन के सभी कष्टों को दूर करने और दुःखों को पास भी नहीं फटकने देने की क्षमता रखती है। आज हम आपको खाटू श्याम जी का एक ऐसा मंत्र बताने जा रहे हैं जिसके जाप से आपकी सभी मनोकामनाएँ पूर्ण हो सकती हैं। “ॐ श्री श्याम देवाय नमः” इस मंत्र के जाप से क्या फायदे हैं, आइए जानते हैं।

ये भी पढ़ें:- अपनाएं खाटू श्याम बाबा को प्रसन्न करने के 3 उपाय मन्त्र : बाबा की होगी खूब महर

खाटू श्याम के मंत्र | Khatu Shyam Ka Mantra

खाटू श्याम जी की भक्ति में कई मंत्रों का प्रयोग किया जाता है, जो उनकी विभिन्न विशेषताओं और शक्तियों का वर्णन करते हैं। ये मंत्र भक्तों को श्याम जी के साथ एक अटूट बंधन बनाने में मदद करते हैं और उनके जीवन में सुख-समृद्धि लाते हैं।

“ॐ श्याम देवाय बर्बरीकाय हरये परमात्मने ।। प्रणतः क्लेशनाशाय सुह्र्दयाय नमो नमः।।” : यह मंत्र श्याम जी को बर्बरीका, हरि और परमात्मा के रूप में प्रणाम करता है। यह क्लेशों को दूर करने वाले और सुह्रदय स्वभाव वाले श्याम जी की कृपा की कामना करता है।

2. “महा धनुर्धर वीर बर्बरीकाय नमः ।।” : यह मंत्र श्याम जी के वीर और धनुर्धर रूप का स्मरण कराता है। यह उनके साहस और शक्ति का गुणगान करता है।

3. “श्री मोर्वये नमः ।।” : यह मंत्र श्याम जी के मोर्वी नामक स्थान से संबंध को दर्शाता है। यह उनके भक्तों को मोर्वी में स्थित उनके मंदिर में आने का आह्वान करता है।

4. “श्री मोर्वी नन्दनाय नमः ।।” : यह मंत्र श्याम जी को मोर्वी के नंदन (पुत्र) के रूप में सम्बोधित करता है। यह उनके प्रेम और दयालु स्वभाव का वर्णन करता है।

5. “ॐ सुह्र्दयाय नमो नमः ।।” : यह मंत्र श्याम जी के सुह्रदय स्वभाव का गुणगान करता है। यह उनके भक्तों पर उनकी कृपा और स्नेह की कामना करता है।

6. “श्री खाटूनाथाय नमः ।।” : यह मंत्र श्याम जी को खाटू में स्थित उनके मंदिर के स्वामी के रूप में प्रणाम करता है। यह उनके भक्तों को खाटू में उनके दर्शन करने का आह्वान करता है।

7. “श्री शीशदानेश्वराय नमः ।।” : यह मंत्र श्याम जी को शीशदानेश्वर (सिर का स्वामी) के रूप में सम्बोधित करता है। यह उनके दिव्य और सर्वव्यापी स्वभाव का वर्णन करता है।

8. “ॐ श्री श्याम शरणम् मम: ।।” : यह मंत्र श्याम जी को अपना शरणदाता मानकर प्रणाम करता है। यह उनके भक्तों को उनके आशीर्वाद और संरक्षण की कामना करता है।

9. “ॐ मोर्वी नन्दनाय विद् महे श्याम देवाय धीमहि तन्नो बर्बरीक प्रचोदयात्।” : यह श्याम जी की गायत्री मंत्र है। यह उनके ज्ञान, शक्ति और दयालु स्वभाव का गुणगान करता है।

10. “ॐ श्री श्याम देवाय नमः” यह मन्त्र भक्तों को भगवान श्याम से सीधा जोड़ता है, जिससे उन्हें उनकी कृपा और आशीर्वाद प्राप्त होता है।

ये भी पढ़ें:- खाटू श्याम के 11 नाम : बाबा श्याम के सभी 11 नामों का महत्व है खास

श्री श्याम देवाय नमः का महत्व

“श्री श्याम देवाय नमः” मंत्र, खाटू श्याम के भक्तों के लिए एक महत्वपूर्ण और प्रासंगिक मंत्र है। इस मंत्र का नियमित जाप करने से मानसिक शांति, आत्मबल, और आध्यात्मिक प्रगति प्राप्त होती है। इस मंत्र के जाप से भक्त को भगवान श्याम की कृपा मिलती है और जीवन की सभी कठिनाइयाँ और बाधाएँ दूर हो जाती हैं।

श्री श्याम देवाय नमः मंत्र का महत्व

1. मानसिक शांति: इस मंत्र का जाप करने से मानसिक शांति प्राप्त होती है और जीवन की चिंताओं से मुक्ति मिलती है।

2. आत्मबल: यह मंत्र आत्मबल को बढ़ाता है, जिससे व्यक्ति जीवन की चुनौतियों का सामना करने में सक्षम होता है।

3. कठिनाइयों का समाधान: यह मंत्र जीवन की कठिनाइयों और बाधाओं का समाधान प्रदान करता है और समस्याओं का समाधान मिलता है।

4. आध्यात्मिक प्रगति: यह मंत्र आध्यात्मिक प्रगति को बढ़ाता है और भक्त भगवान श्याम के साथ आध्यात्मिक रूप से जुड़ता है।

5. समृद्धि: इस मंत्र के जाप से जीवन में समृद्धि और खुशहाली आती है।

ये भी खास है:- खाटू श्याम को हारे का सहारा क्यों कहते हैं

मंत्र के कुछ प्रमुख श्लोक:

  • “जब आत्म बल बढ़ जाये, सुख-दुःख की चिंता छुटे, मोह माया सब मिट जाये, सच्चा सुख तू फिर लूटे।”
  • “प्रभु से सभी मिलाप करो, महामंत्र का जाप करो, ॐ श्री श्याम देवाय नमः।”

श्याम बाबा की कृपा | Grace of Shyam Baba

खाटू श्याम, जिन्हें आमतौर पर श्याम बाबा के नाम से जाना जाता है, भक्तों के बीच असीम श्रद्धा और विश्वास के प्रतीक हैं। श्याम बाबा की कृपा से भक्तों को अनेक प्रकार के लाभ और अनुग्रह प्राप्त होते हैं। उनके प्रति भक्ति और श्रद्धा व्यक्त करने से जीवन में अद्वितीय शांति और समृद्धि का अनुभव होता है। यहाँ कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में जानते हैं:

  • जीवन की कठिनाइयों का समाधान: श्याम बाबा की कृपा से जीवन की सभी कठिनाइयाँ और बाधाएँ दूर हो जाती हैं। उनके आशीर्वाद से भक्त अपने जीवन की समस्याओं का समाधान पाते हैं और सफलता की ओर अग्रसर होते हैं।
  • मानसिक शांति और आत्मबल: श्याम बाबा की कृपा से मानसिक शांति और आत्मबल की प्राप्ति होती है। उनके प्रति भक्ति और मंत्र जाप से मन को शांति मिलती है और आत्मबल बढ़ता है।

ॐ श्री श्याम देवाय नमः मंत्र के फायदे | Om Sri Shyam Devaaya Namah Mantra

“ॐ श्री श्याम देवाय नमः” मंत्र खाटू श्याम भक्तों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। इसके जाप से भक्तों को अनेक लाभ प्राप्त होते हैं।

  • मानसिक शांति और संतुलन: इस मंत्र का जाप मन को शांति और संतुलन प्रदान करता है। जब जीवन में तनाव और चिंता होती है, तब इस मंत्र का जाप मानसिक शांति और संतुलन की प्राप्ति में मदद कर सकता है।
  • आत्मबल की वृद्धि: “ॐ श्री श्याम देवाय नमः” मंत्र का जाप आत्मबल को बढ़ाता है। यह मंत्र आत्मिक शक्ति प्रदान करता है और व्यक्ति को आत्मविश्वास से भर देता है। यह जीवन की चुनौतियों को स्वयंसिद्ध करने में मदद कर सकता है।
  • कठिनाइयों का समाधान: इस मंत्र का जाप करने से जीवन की कठिनाइयाँ और बाधाएं दूर हो सकती हैं। यदि कोई कार्य अटकता है या जीवन में समस्याएं आती हैं, तो इस मंत्र का जाप करने से समाधान मिल सकता है।
  • आध्यात्मिक प्रगति: “ॐ श्री श्याम देवाय नमः” मंत्र आध्यात्मिक रूप से भक्त को भगवान श्याम से जोड़ता है और उसे आध्यात्मिक उन्नति के पथ पर अग्रसर करता है।
  • जीवन में समृद्धि: इस मंत्र के नियमित जाप से जीवन में समृद्धि और खुशहाली आ सकती है। यह मंत्र भक्त को सभी प्रकार की नकारात्मकताओं से बचाता है और उसे आर्थिक और आत्मिक संपन्नता की प्राप्ति में मदद कर सकता है।

खाटू श्याम भजन | Khatu Shyam Bhajan

खाटू श्याम के भजन उनके भक्तों के लिए बहुत महत्वपूर्ण और प्रिय होते हैं। इन भजनों के माध्यम से भक्त भगवान श्याम के प्रति अपनी श्रद्धा और प्रेम व्यक्त करते हैं। आइए कुछ प्रमुख खाटू श्याम भजनों के बारे में जानते हैं और उनके महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा करते हैं।

ओ श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम

श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम

लोग करें मीरा को यूँ ही बदनाम

साँवरे की बंसी को बजने से काम

राधा का भी श्याम वोतो मीरा का भी श्याम

जमुना की लहरें बंसीबट की छैयां

किसका नहीं है कहो कृष्ण कन्हैया

श्याम का दीवाना तो सारा बृज धाम

॥ लोग करें मीरा को…॥

कौन जाने बाँसुरिया किसको बुलाए

जिसके मन भाए वो उसी के गुण गाए

कौन नहीं बंसी की धुन का गुलाम

श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम

लोग करें मीरा को यूँ ही बदनाम

हारे का सहारा बाबा श्याम हमारा

जपता फिरूं मैं नाम तुम्हारा,

हारे का सहारा बाबा श्याम हमारा,

तेरी सोणी सूरत पे दिल हूँ मैं हारा,

हारें का सहारा बाबा श्याम हमारा ॥

तेरी ही कृपा से बाबा,

चलता है जीवन मेरा,

दीन दुनिया छोड़ के बैठा,

मैं हूँ तेरा तू है मेरा,

खुद को भी मैंने तुझपे है वारा,

हारें का सहारा बाबा श्याम हमारा ॥

खाटू वाले शरण में अपनी,

भक्तों को बिठाये रखना,

चरणों की सेवा में बाबा,

हमको तुम लगाए रखना,

बिनती करे ये दास तुम्हारा,

हारें का सहारा बाबा श्याम हमारा ॥

जपता फिरूं मैं नाम तुम्हारा,

हारे का सहारा बाबा श्याम हमारा,

तेरी सोणी सूरत पे दिल हूँ मैं हारा,

हारें का सहारा बाबा श्याम हमारा ॥

Leave a Comment